#इश्क

इश्क की बात
काश! उनको…
कभी तो रास आ जाए
उन्हें ख्वाबों में मिलते हैं
फ़कत
बेकरार होकर हम …

इश्क! चाहे
एक तरफ़ा है…
असर इस जुनूं का इतना है
मेरे इस दिल में खिलता है
फ़कत
गुलज़ार होकर गम …

#काव्याक्षरा

#ज़िंदगी_और_मैं

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s