#प्रश्नपत्र…

जीवन प्रश्नपत्र
समान !
जिसका नहीं है
कुछ अनुमान…. !!

रोमांचक-सा
अप्रत्याशित!
सब प्रश्नों के
अंक संतुलित….. !!

विकल्प नहीं हैं
अधिक समक्ष!
कठिन प्रश्न भी
हैं प्रत्यक्ष…… !!

उत्साहित करे
कभी विकल!
कठिन है कुछ-कुछ
कुछ है सरल… !!

निश्चित-अवधि में
करना पूर्ण!
औचित्य तभी
जब हो संपूर्ण.. !!

सीमा शब्दों की
भी अनिवार्य!
जो प्रस्तुत है
वो ही स्वीकार्य… !!

लिखने की कला का
अतिमहत्त्व !
विचारणीय भी
यहाँ घनत्व….. !!

मूल्यांकन प्रक्रिया
बहुप्रतीक्षित!
पुनरावृत्ति
लगभग अवांछित….. !!

जीवन प्रश्नपत्र
समान !
जिसका नहीं है
कुछ अनुमान…. !!

#काव्याक्षरा
*****************************

5 thoughts on “#प्रश्नपत्र…

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s